सुरक्षित और असुरक्षित स्पर्श के बारे में बच्चों से कैसे करें बात?

    0
    67
    Tips To Talk To Your Child About Safe And Unsafe Touches - Udta Social Official

    बच्चों से यौन शोषण या सुरक्षित यौन सम्बन्धों के बारे में बात करना मुश्किल होता है। लेकिन अगर आप ऐसा सोचते हैं की आपका बच्चा बिलकुल सुरक्षित है और उससे यौन शोषण के बारे में बात करने की कोई ज़रूरत नहीं है तो यह जान लें की- भारत में महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की एक रिपोर्ट के अनुसार करीब 53% बच्चों (लड़कों और लड़कियों) को यौन शोषण का सामना करना पड़ता है।

    अब बच्चे की सुरक्षा के लिए आप अपने बच्चे को कमरे में बंद करके तो नहीं रख सकते। लेकिन अगर हम उन्हें सही ज्ञान दें तो वे अपने आप को सुरक्षित रख सकते हैं।

     

    बच्चों से यौन शोषण के बारे में बात करने के लिए यहां हमने कुछ सुझाव दिए गए हैं:

    बच्चों से बात करते समय इन बातों का रखें ध्यान:

     

    सही शब्दों का इस्तेमाल (Wording):

    विशेषज्ञों का मानना ​​है कि ‘अच्छे’ और ‘बुरे’ शब्दों को ‘सुरक्षित’ और ‘असुरक्षित’ से बदला जाना चाहिए।

    इसका कारण यह है कि जब हम शरीर के अंगों को ‘बुरे’ के रूप में लेबल करते हैं, तो जब वे बड़े हो जाते हैं तो उनके लिए लैंगिकता और प्रजनन स्वास्थ्य को समझना मुश्किल हो सकता है।

     

    शरीर के अंग (Body parts):

    कुछ माता-पिता ‘स्विमिंग सूट’ या ‘अंडरवियर’ नियम का उपयोग करना पसंद करते हैं और बच्चों को समझाते हैं कि इन कपड़ों से छुपे अंगों को माता-पिता या डॉक्टर (माता-पिता की मौजूदगी में) के अलावा अन्य किसी को नहीं छूना चाहिए। दूसरों का मानना ​​है कि शरीर के अंगों को उनके उचित नामों के साथ बताना बेहतर है ताकि बच्चे इस पर चर्चा करने में अधिक सहज रहें। स्पर्श के बारे में बात करते हुए, बच्चे को यह बताना भी महत्वपूर्ण है कि किसी और के निजी भागों को छूना भी गलत है।

     

    निर्णय लेने की क्षमता (Ownership of their Body):

    अपने बच्चे को बताएं की वे अपने शरीर के मालिक हैं, और कोई भी उन्हें छू नहीं सकता जब तक कि उनकी सहमति न हो। उन्हें यह भी बताना चाहिए कि अगर वो किसी को गले लगाना नहीं चाहते या चुंबन नहीं चाहते हैं तो वे मना करने के लिए स्वतंत्र हैं।

    How to Talk to Your Child About Good Touch and Bad Touch - Udta Social Official

     

    सही समय (Timing):

    बच्चे से बात करने के लिए सही समय ढूँढें जैसे स्नान कराते समय या जब आप बच्चे के कपड़े बदल रहे हों। बच्चे को डराना या भयभीत नहीं करना चाहिए। आवश्यक बातें दोहराएं और अपने बच्चे को सवाल पूछने दें।

     

    ‘ नहीं’ कहना ठीक है (It’s okay to say ‘NO):

    जब किसी ज्ञात और भरोसेमंद व्यक्ति द्वारा अनुचित स्पर्श किया जाता है- तब बच्चे के लिए यह भ्रामक हो सकता है। उन्हें बताएं की वे किसी भी वयस्क या अन्य बच्चे द्वारा किसी भी प्रकार के ‘असुरक्षित’ स्पर्श के लिए ‘नहीं’ कह सकते हैं। अपने बच्चे को बताएं कि ‘नहीं’ कहने के बाद, उन्हें सहायता के लिए चिल्लाने या किसी को चेतावनी देने की आवश्यकता होती है।

     

    कुछ न छुपाएं (No Secret) :

    अधिकांश दुर्व्यवहार करने वाले लोग बच्चों को बताते हैं कि जो कुछ वे कर रहे हैं वह एक रहस्य है और उन्हे किसी को नहीं बताना है। अपने बच्चे को समझाएँ कि यदि कुछ भी गलत लगता है, भले ही उसे गुप्त रखने को कहा गया हो, उन्हें आपको बताना चाहिए, कुछ भी छुपाना नहीं चाइए।

     

    कोई तस्वीर नहीं (No pictures):

    यौन दुर्व्यवहार में केवल स्पर्श ही शामिल नहीं है इसलिए अपने बच्चे को यह भी बताएं कि उनको किसी को भी अपने निजी भागों की तस्वीरें लेने की अनुमति नहीं देनी चाहिए।

     

    हमेशा जागुरुक रहें (Check and double-check references) :

    अपने बच्चे को किसी कि निगरानी में छोडने का निर्णय लेने से पहले सभी काम करने वालों और देखभालकर्ताओं पर ध्यान से निगरानी रखें। सिफारिशों पर इन फैसलों का आधारित होना सबसे अच्छा है और यदि संभव हो तो, आस-पास होने की कोशिश करें और यथासंभव नज़र रखें।

    How to Talk to Your Child About Good Touch and Bad Touch1 - Udta Social Official

     

    बच्चे के आसपास कौन रहता है (Know who is around your child):

    चाहे आपका बच्चा पड़ोसी के घर गया हो या परिवार के दोस्त के साथ दिन बिताने के लिए गया हो, हमेशा अपने बच्चे के आसपास रहने वाले सभी लोगों के बारे में जागरूक रहें।

     

    संकेतों का ध्यान रखें (Look for signs):

    अगर आप ऐसा महसूस करें कि कोई दूसरा व्यक्ति आपके बच्चे पर विशेष ध्यान दे रहा है, तो उस व्यक्ति से दूर रहने कि कोशिश करें और अपने बच्चे से पूछें कि अगर उस व्यक्ति ने उसे परेशान किया है। अगर आपका बच्चा किसी दूसरे वयस्क या बच्चे से दूर रहने कि कोशिश करता है या डरता है तो उसके पीछे कोई कारण हो सकता है।

     

    सुलभ रहें (Be approachable):

    अपने बच्चों को बताएं कि वो जब भी असहज महसूस करें वे आपको तुरंत बता सकते हैं। चाहे वो कोई जन्मदिन की पार्टी हो- यदि वे सुरक्षित महसूस न करें तो उन्हें आपसे बात करने में सक्षम होना चाहिए। बच्चों से हमेशा खुलकर बात करें और उन्हे यह महसूस कराएं कि आप हमेशा उनकी बात सुनने के लिए तयार हैं।

     

    शांति से प्रतिक्रिया करें (React calmly):

    अगर किसी भी समय आपको बच्चे के साथ यौन दुर्व्यवहार का संदेह हो या आपके बच्चे ने आपको बताया है कि उसे अनुपयुक्त छुआ गया है, तो उनके सामने गुस्सा या परेशान न हों। वे अपने आप को दोषी महसूस कर सकते हैं और विवरण को छुपा सकते हैं। सबसे पहले, अपने बच्चे को आश्वस्त करें कि उन्होंने आपको बता के सही काम किया है और आप अब आगे क्या करना है वो करेंगे।

    कई तरीकों से आप बच्चों का यौन शोषण होने से रोक सकते हैं। लेकिन सबसे पहले आपको अपने बच्चों से बात करनी होगी और उन्हें समझाना होगा क्योंकि आप अपने बच्चों के साथ हर स्थान पर उपस्थित नहीं रह सकते हैं।

     

    Source

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here