तमिल मशहूर अभिनेता धनुष | Dhanush Biography

0
133
Dhanush Biography - Udta Social Official

वेंकटेश प्रभू कस्तुरी राजा यानी धनुष का जन्म 28 जुलाई 1983 को चैन्नई में हुआ। उनके पिताजी तमिल फ़िल्म के निर्देशक और फ़िल्म निर्माता कस्थुरा राजा है। और साथ ही वो निर्देशक सेल्वाराघवन के भाई है।

धनुष ने सलिग्रामम के साथिया मैट्रिकुलेशन स्कूल से किंडरगार्टन से दसवी तक की पढाई पूरी की।

12 वी की पढाई पूरी करने के लिए उन्होंने अलवारथिरुनगर के सेंट जोन्स मैट्रिकुलेशन स्कूल में दाखिला तो ले लिया लेकिन 12 परीक्षा के डेढ़ महिना पहले उन्हें उस स्कूल से परीक्षा देने में तकलीफे आ रही थी तो बाद में उन्होंने चेन्नई के जेआरके मैट्रिकुलेशन स्कूल से 12 वी की परीक्षा दी।

धनुष ने रजनीकांत की बेटी ऐश्वर्या से 18 नवम्बर 2004 को शादी की और उन्हें दो ‘यात्रा’ और ‘लिंगा’ नाम के लड़के भी है।

 

धनुष का करियर – Dhanush Career

धनुष फ़िल्म इंडस्ट्री में बतौर अभिनेता काम करना ही नहीं चाहते थे लेकिन उनके भाई निर्देशक सेल्वाराघवन ने जब उनपर बतौर अभिनेता काम करने का दबाव डाला तो धनुष को ना चाहते हुए भी अभिनेता के रूप में करियर की शुरुवात करनी पड़ी।

धनुष ने उनके पिता के निर्देशन में बनी फ़िल्म ‘ठुल्लुवाठो’ फ़िल्म से करियर की शुरुवात की। बाद में फिर उन्होंने उनके भाई के निर्देशन में ‘काढाल कोंदेन’ फ़िल्म में भी काम किया।

2003 में रिलीज़ हुई ‘थिरुदा थिरुदी’ फ़िल्म में बहुत कामयाबी मिली और फ़िल्म बड़ी सुपरहिट भी साबित हुई थी।

उस फ़िल्म के हिट होने के बाद धनुष ने कई सारे जानेमाने निर्देशक और फ़िल्म निर्माता के साथ काम करके बहुत सारी सुपरहिट फिल्मे दी। उन फिल्मो में वेलैयिला पत्ताथारी, आदुकलम, 3, अनेगन, मारी, थान्गमगन, थोदारी, कोडी जैसी हिट फिल्मे धनुष ने दी है।

‘पॉवर पांडी’ फ़िल्म में ख़ुद धनुष ने कैमिया का किरदार निभाया था। उस फ़िल्म को ख़ुद धनुष ने ही निर्देशित किया था।

धनुष ने बॉलीवुड की फ़िल्म ‘शमिताभ’ में बॉलीवुड दिग्गज अभिनेता अमिताभ बच्चन के साथ में मिलकर बहुत ही जबरदस्त काम किया था।

एक अंतर्राष्ट्रीय फ़िल्म ‘द एक्स्ट्राआर्डिनरी जर्नी ऑफ़ दफ़क़ीर हु गोटट्रैप्ड इन अन इकेया कपबोअर्ड’ में काम करने के लिए धनुष ने हाल ही में साईन किया। उस फ़िल्म को मरजाने सत्रापी निर्देशित करनेवाले है।

पिछले 15 सालो में धनुष ने 25 फिल्मो में काम किया है। ‘अदुकुलम’ फ़िल्म के लिए धनुष को राष्ट्रीय पुरस्कार भी मिल चूका है।

“व्हाई धिस कोलावरी डी” जैसे मशहुर गाने को ख़ुद धनुष ने गया था। उस गाने को ना केवल भारतीयों ने पसंद किया बल्कि देशविदेश के लोगों ने भी पसंद किया।

जब कोलावारी का गाना लांच हुआ था तब उस गाने ने यूट्यूब पर धमाल मचा दिया था।

वो गाना भारत का ऐसा पहला गाना था जिसे 100 मिलियन से भी ज्यादा व्यूज मिले थे।

धनुष की ख़ुद की ‘फ़िल्म’ नाम की फ़िल्म निर्माण की कंपनी है जिसके अंदर वो फिल्मे बनाते है। उन्हें 3 राष्ट्रीय पुरस्कार (नेशनल अवार्ड) और 7 फिल्मफेयर पुरस्कार भी मिल चुके है।

 

Source: gyanipandit.com