ब्लू व्हेल गेम के बाद मोमो चैलेंज बना “मौत का सौदागर”, ऐसे बनता है शिकार?

0
103
मोमो चैलेंज1

अगर आप के बच्चे व्हाट्सऐप और फेसबुक सरीखे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर ज्यादा समय दे रहे हैं तो आपको सावधानी बरतनी होगी. इन दिनों सोशल साइट्स पर अलग-अलग तरह के चैलेंज सामने आ रहे हैं. सोशल साइट्स से आप कोई नंबर अपने फोन में सेव न करें. ऐसा करना आपके लिए खतरे से खाली नहीं होगा. ब्लू व्हेल गेम और कीकी चैलेंज के बाद मोमो चैलेंज आया है.

मोमो चैलेंज व्हाट्सऐप मैसेज के जरिए वायरल हो रहा है. दावा किया जा रहा है कि मोमो जापान से संबंधित है और इस चैलेंज के लिए डरावनी तस्वीर का इस्तेमाल किया जा रहा है. यह चैलेंज खतरों से भरा है. चैलेंज पूरा न करने पर मोमो (एक फिक्शनल कैरेक्टर) डांटती है और कड़ी सजा देने की धमकी भी देती है. इसके चलते यूजर डर जाता है और मोमो के निर्देश मानने के लिए मजूबर हो जाता है. मोमो की बात में आकर यूजर डिप्रेशन का भी शिकार हो जाता है. इसके अधिकतर यूजर्स नौजवान और बच्चे हैं.




मोमो चैलेंज




मोमो चैलेंग गेम के जरिए अपराधी बच्चों और युवाओं को अपनी गिरफ्त में ले रहे हैं. निजी जानकारी चुराने के बाद वह परिजनों को धमकी देता है. इसका इस्तेमाल वह फिरौती मांगने के लिए भी करते हैं. इस गेम के जरिए बच्चों को डिप्रेशन कर वह आत्महत्या की ओर ढकेलते हैं.

मोमो चैलेंज में सबसे पहले यूजर्स को अनजान नंबर दिया जाता है जिसे सेव कर हैलो-हाय करने का चैलेंज दिया जाता है. फिर उस अनजान नंबर पर बात करने का चैलेंज दिया जाता है. इसके बाद जो नंबर सेव होता है, उससे यूजर को डरावनी तस्वीरें और वीडियो क्लिप्स मैसेज किए जाने लगते हैं. यूजर को इस दौरान कुछ काम भी दिए जाते हैं जिसको पूरा न करने स्थिति में उसे धमकी दी जाती है. धमकी से डरकर यूजर आत्महत्या कर लेता है.

अगर बच्चे सोशल मीडिया, खासतौर से व्हाट्सऐप और फेसबुक पर ज्यादा समय दे रहे हैं तो उन पर नजर रखें. उनकी आदतों पर ध्यान दें और किसी भी तरह का, जैसे गुमसुम रहना, खाना छोड़ने सरीखे बदलाव हों तो किसी विशेषज्ञ से संपर्क करें.




Watch Video Below:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here