महिलाओं के लिए आवश्यक मेडिकल जाँचें

    0
    60
    Must-Have Medical Tests For A Woman1 - Udta Social Official

    आज के व्यस्त जीवन में, हर किसी के पास बैठने और मेडिकल परीक्षणों से गुजरने का समय नहीं है। हालांकि, ये परीक्षण आपके स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए महत्वपूर्ण हैं। जैसे कि आप अपने वाहन को सर्विसिंग के लिए भेजते हैं, आपके शरीर को यह सुनिश्चित करने के लिए परीक्षण और जांच का सामना करना पड़ता है कि वह अपनी अधिकतम क्षमता पर काम कर रहा है। सामान्य शारीरिक जांच के अलावा महिलाओं के लिए भी कुछ विशिष्ट जाँचें होती हैं जिन्हें उन्हें अवश्य कराना चाहिए। यहां कुछ ऐसे ही परीक्षणों के बारे में बताया गया है:

     

    बोन मिनरल डेंसिटी टेस्ट (Bone-Mineral Density Test):

    ऑस्टियोपोरोसिस हड्डियों की एक कमजोरी है जो गंभीर है और विशेष रूप से महिलाओं में होती है।

    इस अवस्था का जल्दी पता लगाने के लिए बोन मिनरल डेंसीटी परीक्षण कराना चाहिए। डॉक्टर यह सुझाव देते हैं कि परीक्षण 65 वर्ष की उम्र में किया जाना चाहिए और फिर हर पांच वर्ष में एक बार कराना चाहिए। हालांकि, यदि आप धूम्रपान करती हैं या कम वजन है, तो रजोनिवृत्ति (मीनोपौस) पर परीक्षण कराना सबसे अच्छा है।

     

    कैंसर के लिए स्क्रीनिंग (Screening for cancer):

    कैंसर के लिए जांच कराना महत्वपूर्ण है। पैप जांच और एचपीवी परीक्षणों के द्वारा, 21 व उससे ऊपर की आयु की महिलाओं में गर्भाशय ग्रीवा के कैंसर का परीक्षण किया जा सकता है। स्तन कैंसर की जांच के लिए 40 वर्ष और उससे अधिक उम्र की महिलाओं में हर साल मेम्मोग्राम किया जा सकता है।

    Must-Have Medical Tests For A Woman - Udta Social Official

    हिपटाइटिस- सी जांच (Test for Hepatitis C):

    यह जांच महिलाओं के लिए महत्वपूर्ण है, खासकर उनके लिए जिंहोने इंजेक्शन के द्वारा नशीले पदार्थ लिए हों। यह उनके लिए भी ज़रूरी है जिनको बिना जांच के खून चढ़ाया गया हो। अगर हिपटाइटिस-सी का उपचार न किया जाये तो लीवर खराब होने का डर रहता है।

     

    कोलेस्टरोल की जांच (Cholesterol screening):

    अगर शरीर में कोलेस्टरोल की मात्रा बढ़ जाती है तो बहुत सी गंभीर बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। कोलेस्टरोल का स्तर एक आम खून की जांच से पता चल जाता है। यह जांच 21 साल या उससे अधिक उम्र की महिलाओं को करवाना चाहिए और हर पाँच साल बाद दोहराना चाहिए।

    Why cholesterol test - Udta Social Official

    आँखों की जांच (Vision examinations):

    बहुत सी महिलाएं अपनी आँखों की परेशानियों पर ध्यान नहीं देती हैं और आँखों का चेक अप नहीं करवाती हैं। लेकिन आँखों की जांच बहुत महत्वपूर्ण है। आँखों की जांच हर साल करवानी चाहिए। अगर आप चश्मा पहनती हैं तो हर 6 महीने पर आँखों का चेक अप करवाना चाहिए।

    ये थीं कुछ महत्वपूर्ण जाँचें जो हर महिला को करवानी चाहिए।

     

    source

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here