दुनिया की सबसे डरावनी जेल जहां थर थर कांपते थे कैदी।

0
179
duniya-ki-sabse-khatarnak-jail

जेल जो एक यातनागृह कहलाया जाता है लेकिन आज की समस्या यह हो गयी है कि कैदीओं ने जेल को भी अपने हिसाब से रहने का स्थान बना लिया है,जिस मकसद से जेल को बनाया गया था आज वह मकसद कुछ और ही बन गया है|जेल एक ऎसा कैदखाना है जहां कैदियों को बाहरी दुनिया से अलग रखा जाता है। गुनाह के अनुसार कैदियों को सजा दी जाती है।आपको एक ऐसी जेल के बारे में बता रहे है जहां कैदी जाने से थरथर कांपते थे। वह जेल कैदियों के लिए किसी यातनागाह से कम नहीं था।

The worlds most scary prison! (2)

वेबसाइट डेलीमेल की रिपोर्ट के मुताबिक,अमेरिका के फिलाडेल्फिया स्थित “ईस्टर्न स्टेट पेनीटेनशियरी” जेल को सबसे “भुतहा इमारत” माना जाता है। 1971 में बंद हुई इस जेल को 1996 में बतौर म्यूजियम फिर से खोला गया। इस जेल में एबर्न सिस्टम को फॉलो किया जाता है जिसका तात्पर्य है,कि चुपचाप और लोगों के साथ मिल कर काम करना इसके बाद उनकी शारीरिक सजा कम हो सकती है, संयुक्त राज्य में ऑबर्न सिस्टम का समर्थन किया गया था, पूर्वी राज्य की रेडियल फर्श योजना और एकान्त कारावास की प्रणाली दुनिया भर में 300 से अधिक जेलों का मॉडल था।

The worlds most scary prison!2

कहा जाता है कि 1829 में बनी इस जेल में कैदियों को सिंगल सेल में बंद करके रखा जाता था। कैदियों पर अत्याचार करने के मामले में यह जेल कई बार विवादों में भी रही। जेल के सुरक्षाकर्मी काफी क्रूर थे। कैदियों को सेल से बाहर लाते समय वह उनके सिर को कपडों से ढंक देते थे।

दोस्तों आपको यह आर्टिकल कैसा लगा,इस आर्टिकल से संबंधित कुछ भी सुझाव है तो आप कमेंट कर सकते है|