कभी घर-घर जा बेचा सामान, आज हैं इस लग्जरी कार कंपनी के डायरेक्टर

0
108
kabhi-ghar-ghar

लग्जरी कार कंपनी पोर्श की बेस्ट सेलर कार ‘पोर्श कयानी’ का सबसे एडवांस वर्जन इस साल जून में इंडिया में लॉन्च होगा। बुधवार को कंपनी ने एक रिलीज जारी कर इसकी जानकारी सार्वजनिक की। इस मौके पर हम आपको पोर्श इंडिया के डायरेक्टर पवन शेट्टी की लाइफ के बारे में बताने जा रहे हैं जो कभी घर-घर जा सामान बेचा करते थे और आज दुनिया की सबसे महंगी कार कंपनी पोर्श के डायरेक्टर हैं।

कयानी

6 महीने तक किया सेल्समैन का काम

– जनवरी 2016 में पवन ने पोर्श इंडिया के डायरेक्टर का पद संभाला था।
– अपने स्ट्रगल के बारे में बारे में पवन ने एक इंटरव्यू में बताया,”मैंने सेल्समैन का काम लगभग 6 महीने तक किया। यही वह जॉब थी, जिसने मुझे बोलना सिखा दिया। इस काम में 8-8 किमी तक भी चलना पड़ता था।”
– सेल्समैन की नौकरी के बाद पवन ने एचएसबीसी बैंक में इंटरव्यू दिया। उन्होंने जनरल जॉब में रख लिया गया।

सेल्समैन

मुंबई से किया एमबीए, प्लेसमेंट के जरिए पहुंचे टाटा

 

– एक इंटरव्यू में पवन ने बताया था कि उनका मन हुआ था कि अब एमबीए करना है। लेकिन इसका भी ध्यान रखना था कि ज्यादा पैसे न खर्च हो जाएं। तब उन्होंने सीईटी का एग्जाम क्लियर कर MBA में अपना एडमिशन करवा लिया|
– इसके बाद उन्हें मुंबई के सिडन्ह्म कॉलेज में दाखिला मिला। कॉलेज में पढ़ाई के दौरान ही उन्हें गुजरात की एक मोटर कंपनी में इंटर्नशिप करने का मौका मिला। वहां से पवन ने लगभग 2 महीने तक इंटर्नशिप किया। इसके बाद उनका सिलेक्शन टाटा मोटर्स में बतौर प्रोडक्ट मैनेजर हो गया।

टाटा मोटर्स

गुजरात में फोर्ड के बिजनेस को बुलंदियों पर ले गये

–  वह टाटा मोटर्स में मैनेजर थे। जहाँ पर ट्रकों की डील होती थी। वहां 2 साल काम करने के बाद उन्हें फोर्ड इंडिया से ऑफर आया|
– फोर्ड का गुजरात में बिजनेस ठीक नहीं चल रहा था। वहां पहले 2 साल पवन ने सेल्स का काम देखा। फिर अगले 2 साल तक सेल्स और मार्केटिंग दोनों का काम देखा।
– उनके प्रयास से गुजरात में फोर्ड की हालत बहुत कुछ सुधर गई थी। यहीं से पवन को कारों का अंदाजा भी हो गया था।

लेम्बोर्गिनी को भारत में किया शुरू

– पवन ने बताया,”गुजरात में काम करते हुए एक कंसलटेंट ने जॉब के बारे में बताया। जहां 10-15 कारें बेचनी थी। मैं जब मीटिंग में पहुंचा तब मुझे पता चला कि ये लम्बोर्गिनी कंपनी है। दरअसल कंपनी इंडिया में ऑपरेशन की शुरुआत कर रही थी।”
– पवन कहते हैं मुझे ऐसा लगने लगा कि जैसे बिना पैसे लगाए खुद का बिजनेस तैयार कर रहा हूं। सालों तक लम्बोर्गिनी के ऑपरेशन देखने के बाद पवन पोर्श इंडिया के डायरेक्टर बने।

लम्बोर्गिनी

हमने आज आपको पोर्श कंपनी के मालिक पवन के जीवन से रु-ब-रु करवाया|अगर आप किसी ऐसे ही व्यक्ति के जीवन के बारे में जानना चाहते है तो नीचे कमेंट में बताएं|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here