अगर इस दिशा में घड़ी तो तुरंत हटा दें, वरना…

0
167
vastu-shashtra - udta social official

वास्तु शास्त्र में हर चीज़ के बारे में कुछ ना कुछ बताया गया है. यदि घर का वास्तु शास्त्र ठीक नहीं होता तो घर में नकारात्मक ऊर्जा बन जाती है और घर का माहौल खराब हो जाता है. इसी प्रकार वास्तु शास्त्र में घड़ी अथवा कैलेंडर को समय की गणना करने का उपकरण बताया गया है. यदि इसको वास्तु शास्त्र के विपरीत रखते हैं तो इसका परिणाम भी हमें भुगतना पड़ता है. आज हम इसी चीज़ के बारे में बताने आए हैं कि वास्तु के अनुसार कैलेंडर या घड़ी को किस दिशा में टांगना चाहिए. जिससे आपके घर में या ऑफिस में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह रहे एवं धन की कमी ना हो. आइए जानते हैं इसके बारे में…

SOURCE

घड़ी हो या कैलेंडर हमेशा ही उत्तर पूर्व की दिशा में ही लगाना चाहिए. कभी भी घड़ी को दक्षिण की दिशा में न लगाएं. यदि आप दक्षिण की दिशा में लगाते हैं तो यह बुरा प्रभाव डालता है क्योंकि दक्षिण की दिशा को यम की दिशा बताया गया है और हिंदू शास्त्र में इसे मृत्यु का देवता माना गया है. आपने देखा होगा कई लोग दरवाजे के पीछे या खिड़की के पास घड़ी या कैलेंडर को रखते हैं. यदि आप ऐसा करते हैं तो घर के सदस्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है. इसीलिए कभी भी कैलेंडर या घड़ी को दरवाजे के पीछे या खिड़की के पास नहीं लगाना चाहिए.

SOURCE

जब भी रात को आप सोते हैं तो हमेशा याद रखें सोते समय कभी भी घड़ी को अपने सिरहाने के पास नहीं रखना चाहिए, क्योंकि रात को सन्नाटा हो जाता है और घड़ी की टिक-टिक से आपकी नींद में बाधा आती है एवं आजकल इलेक्ट्रॉनिक सामान से रेडिएशन काफी निकलते हैं जो आपके मस्तिष्क और हृदय के लिए नुकसानदायक हैं.

SOURCE

कभी भी घड़ी आपकी समय से पीछे नहीं चलनी चाहिए. हमेशा घड़ी को 5 मिनट आगे ही रखें ऐसा करने से आपके जीवन में विकास एवं उन्नति आएगी साथ ही कभी भी खड़ी टूटी-फूटी ना हो. यदि कांच टूटा हो तो उसको हटा दें या तुरंत बदलवा दें. कैलेंडर भी कहीं से फटा हुआ नहीं होना चाहिए ना ही उस पर चित्र किसी हिंसक प्रकार का होना चाहिए. यदि आपकी घड़ी बंद हो जाती है तो उसको घर से हटा दें. बंद घड़ी से नकारात्मक ऊर्जा बन जाती है और वह आपके लिए दुर्भाग्य लेकर आती है.